Monday, March 15, 2010

२०६७ हिदुयो के लिए नया वर्ष मंगलमय हो

२०६७ हिदुयो के लिए नया वर्ष मंगलमय हो भारत , नेपाल हुन्दुयो के देश है जहा हिन्दू बहुतायत में रहते है वेसे भारत से विदेशो में उ. के. , उ. एस . , इंग्लेंड ब्रिटेन कनाडा थाईलेंड जेसे देशो में भी भारतीय बड़ी संख्या में निवास कर भारतीयता को जिवंत रखे सभी हिन्दू भाइयो बहनों को मेरी नव वर्ष की मंगलकामनाये हम देश की प्रगति में आपनी अहम् भूमिका का निर्वहन कर सके , माँ हमें वो शक्ति प्रदान करे की हमारी विजय हो हम अपराजित रहे ,दुश्मनों को कूट निति में ही पराजित करे , ताकि हमारे भाइयो का नुकशान न होने पाए ! आइये आज हम संकल्प ले भारत के प्रति सच्ची निष्ठा रखेंगे ,आपने कर्तव्यों का पालन करेंगे न्याय प्रिय ,सत्य निष्ठ नागरिक बनेंगे और बनाने के लिए प्रेरित करेंगे

5 comments:

aarya said...

भारतीय नववर्ष 2067 , युगाब्द 5112 व पावन नवरात्रि की शुभकामनाएं
रत्नेश त्रिपाठी

शरद कोकास said...

हम लोगों ने विक्रम सम्वत को सम्वत के रूप मे स्वीकार किया है जो ईसा के 57 वर्ष बाद प्रारम्भ हुआ तदनुसार यह वर्ष 2010+57 =2067 माना जाता है । शक सम्वत जिसे ईसा से 78 वर्ष पहले का माना जाता है वह हमे स्वीकार नही है । 2010-78 = 1932 । लेकिन हमारे देश मे प्रसार भारती ,आकाशवाणी मे अभी शक सम्वत ही मानते हैं । क्या शासकीय प्रयासों से इसकी एकरूपता के लिये कुछ किया जा सकता है ?
आज सुबह बिलासपुर से प्रसिद्ध साहित्यकार सतीश जायसवाल ने इस ओर ध्यान आकर्षित किया तो मैने आपको लिख दिया ।

Udan Tashtari said...

आप को नव विक्रम सम्वत्सर-२०६७ और चैत्र नवरात्रि के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ .....

ajay tripathi said...

हम लोगों ने विक्रम सम्वत को सम्वत के रूप मे स्वीकार किया है जो ईसा के 57 वर्ष बाद प्रारम्भ हुआ तदनुसार यह वर्ष 2010+57 =2067 माना जाता है । शक सम्वत हमे स्वीकार नही है । हमारे देश मे प्रसार भारती ,आकाशवाणी मे अभी शक सम्वत ही मानते हैं । शरद भाई , हमें शासकीय स्तर पर इसकी एकरूपता के लिये ध्यान अकर्सन आवस्य करना चाहिए आजकल तो माँ भी बिना रोये बच्चे को दूध नहीं पिलाती है ! पत्रों का सिलसिला चालू करे समय जल्दी आजायेगा आपका साधुवाद .......................

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari said...

आपको भी नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनांए, बडे भाई.

Post a Comment